What Is Lathe Machine And Definition, Parts, Types, Operations In Hindi

what-is-lathe-machine-and-definition-parts-types-operations-in-hindiwhat-is-lathe-machine-and-definition-parts-types-operations-in-hindi


Lathe Machine वर्कशॉप में सबसे ज्यादा प्रयोग में लाई जाती है. इस मशीन के द्वारा बाहरी या आंतरिक, प्लेन व टेपर कटिंग, Drilling व बोरिंग तथा thread इत्यादि आसानी से काटी जा सकती है. इस पर भिन्न-2 attachment लगाकर इसकी क्षमता बढ़ाई जा सकती है. जैसे Gear Cutting, Grinding, Key way इत्यादि.

सभी प्रकार के कार्य Lathe Machine पर कियें जा सकते है. जो दूसरी मशीनों पर कियें जाते है. इसलिए इसे Machine शॉप की जननी कहा जाता है. सबसे पहले एक लकड़ी के गठ्ठे को दो पेड़ो के बीच में घुमाकर खराद किया गया था. इसे Tree Lathe Machine के नाम से जाना जाता है. इससे 1700 ई. में एक फ्रैंच नामक व्यक्ति सबसे पहले Lathe Machine बनाई और सन 1747 ई. में Henry Maudslay नामक व्यक्ति ने पहली Thread काटने वाली Lathe Machine बनाई थी.

इसके बाद अधिकतर लेथ मशीन अमेरिका में बनाई गई. पहले इस मशीन के हिस्से लड़की व धातु के बनाएं जाते थे. लेकिन सन 1800 ई. में पूरी धातु की Lathe Machine बनाई गईं. इस मशीन को काम के अनुसार कई भागों में बाटा गया है.

ये भी पढ़ेंWhat Is Cam? कैम क्या है और Cam कितने प्रकार के होते है

Principle Of Working

खराद मशीन का मुख्य कार्य Job को घुमाना तथा घुमती हुई Job को इच्छित आकार प्रदान करना है. खराद पर Job या कार्य को दो केन्द्रों के बीच में Check या face plate पर पकड़ कर Job को घुमाते है. Check या face plate spindle के अगले चूड़ी वाले भाग पर लगाया जाता है. Cutting Tool को मजबुती से tool post में पकड़कर अपने axis पर घुमाते हुए Job के विरुद्ध चाल देकर आवश्यक धातु को काट कर job को इच्छित मात देते है.

Tool को job के axis के समांतर चलाकर बेलनाकार किसी निश्चित कोण पर चलाकर tapper तथा axis के लम्ब रूप में चलाकर समतल surface प्राप्त करते है.

Types Of Lathe

बनावट तथा डिजाइन के अनुसार Lathe Machine कई प्रकार की होती है.

  1. Speed Lathe
  2. Center Lathe
  3. Production Lathe
  4. Special Lathe
  5. Speed Lathe

1. Speed Lathe

यह खराद मशीन Bench Lathe Machine की तरह ही होती है. इनमे ढले हुए Leg Bed के साथ जुड़ें होते है. इस खराद में Gear Box, Carriage lead screw नही होते है. इस पर (T) आकार का एक आधार होता है. जिस पर tool को टिका कर हाथ द्वारा लकड़ी को खरादने वाली तथा पतली चादरों को Spinning करकें बर्तन आदि बनाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है. इस Machine का use job पर पॉलिश करने तथा Job के किनारो पर Centre hole करने के लिए use की जाती है. इस मशीन पर speed बदलने के लिए एक Cone Pulley लगी होती है.

ये भी पढ़ें - Shaft Coupling किसे कहते है, What Is Shaft Couplings In Hindi

Center Lathe

Lathe Machine का यह वर्ग बहुत ही महत्वपूर्ण है. इस वर्ग में आने वाली सभी मशीनो के कार्य को centre के मध्य Chuck या Face Plate आदि पर पकड़ा जाता है. इन मशीनो में Bed, Head Stock, Tail Stock, Carriage tool post आदि भाग होते है. इस मशीन का मुल सिद्धात एक ही है की इन मशीनों को भिन्न भागों में बाता जाता है.

(i). Head Lathe
(ii). Tsa Tell Lathe
(iii). Bench Lathe
(iv). Engine Lathe

Production Lathe

Production Lathe कम समय में एक ही प्रकार तथा आकार के job का अधिक उत्पादन प्राप्त करने के लिए use में लाइ जाती है. इसलिए इसे Production Lathe के नाम से जाना जाता है. इस वर्ग में निम्नलिखित मशीने आती है.

Capstan Lathe And Turret Lathe

यह Lathe Machine अधिक उत्पादन कार्यो के लिए प्रयोग में लाई जाती है. इन मशीनों पर अनेक प्रकार के Opration कर सकते है. इस Machine में Tool Stock के स्थान पर 6 या 8 का पहल वाला Turret Head लगा होता है. जो अपने Centre पर घुमता है. जिस पर भिन्न-2 Tool बांध सकते है.

इसके अतिरिक्त इसमें दो Tool Post तथा कार्य के Size को Control करने के लिए कई Stopper आदि भी लगे होते है. इस कारण इसकी क्षमता और भी बढ़ जाती है. आजकल कुछ मशीनो को अर्द्ध स्वचालित भी बनाया गया है. जिसमे Turret Head को Automatic Feed भी दे सकते है.

ये भी पढ़ें - शेपर मशीन क्या है ? What Is Shaper Machine In Hindi

Special Lathe

ऐसे कार्य जो आसानी से Standerd खरादों पर नही पर नही बनाएं जा सकते है. उन कार्यो के लिए कुछ विशेष प्रकार की Lathe प्रयोग में लाई जाती है. जो निम्नलिखित है.

(i). Wheel Lathe
(ii). Coping Lathe
(iii). Cam Shaft Lathe
(iv). Vertical Lathe
(v). Relieving Lathe
(vi). Roller Lathe
(vii). Crank Shaft Lathe

Parts Of Engine Lathe

(i). Legs

इस पर Bed स्थिर रहता है. यह mild steel के बनें होते है और ऊपरी Surface को मशीनीग किया होता है. आजकल प्राय: Legs Box की आकृति की बनाई जाती है. जिसमें Head Stock वाली legs में Moter Fit की होती है व Tail Stock वाली Legs में खराद के उपसाधन व Tool आदि रखने रखने के लिए खाने बनें होते है. इस पैर का आकार Machine की क्षमता पर निर्भर करता है.

(ii). Bed

यह खराद मशीन का मुख्य भाग है तथा आधार का कार्य करती है. इस पर सभी स्थिर व अस्थिर भाग जुड़ें होते है जो की इसके साथ चलते है. यह Mild Steel का box आकार का बना होता है. इसको मजबुती प्रदान करने के लिए इसमें Ribs बनी होती है. प्राय: Bed एक ही खण्ड में डाल कर बनाएं जाते हैं.

परंतु बड़ी-2 खरादों के Bed दो या तीन या इससें अधिक खंडो में ढाल कर बनाएं जाते है. जिसको बाद में में Bolt के द्वारा जोड़ कर इच्छित लम्बाई प्राप्त कर सकते है. यह कार्य की शुद्धता के आधार पर ही निर्भर करती है.

(iii). Gap Bad

कम चौड़े व बडें डायामीटर के Job जो खराद मशीन के Bad के उपर न घुम सकें. इनको बनाने के लिए Gap Bed वाली Lathe Machine का प्रयोग किया जाता है. इस मशीन में Bad के बाए सिरे के पास Head Stock के आगें कुछ Gap रख कर उनमें दो बेल्टो की सहायता से Bed के आकार पर ही छोटा भाग कसा होता है.

जब Machine पर बडें Diameter वाले Job को Turn करना हो तो इस Gap वाले हिस्से को निकाल लेते है. इस मशीनों के साथ आम मशीनों की अपेक्षा बडें डायामीटर वाली Face Plate व Chuck आते हैं. जिन पर बडें Job Turn करने के लिए पकड़ें जाते है.

ये भी पढ़ें - Types Of Belt In Hindi | बेल्ट कितने प्रकार के होते है

(iv). Head Stock

यह Lathe Machine का बहुत ही महत्वपूर्ण भाग होता है. इसमें लगे Spindle पर Chuck Face Plate, Center इत्यादि लगातार Job को घुमाया जाता है. इसी में लगे Pulley व Gear के द्वारा Job को भिन्न गतियों पर घुमा सकते है. इसमें लगे Tumbler Gear And Gear Train के द्वारा भिन्न-2 Thread काट सकते है व Carriage को Automatic feed प्रदान कर सकते है.

Head Stock Cast Iron का एक Box की आकृतिनुमा होता है. जिसे Bed के बाई और मजबुती के साथ Clamp किया होता है. इसमें Spindle, Back Gear तथा Cone Pulley इत्यादि लगी होती है. Spindle की axis line को बेड की axis line पर रखा जाता है.

Head Stock के निम्नलिखित भाग होते है.

(i). Spindle
(ii). Cone Pulley
(iii). Back Gear
(iv). Tumbler Gear
(v). Quadrant Plate

Comments

Popular posts from this blog

3. Convention Line in hindi सभी प्रकार की रेखाओ की जानकारी हिंदी में |

1.1. introduction of Drawing ड्राइंग की परिभाषा पूरी जानकारी हिंदी में

1.2. introduction of Engineering Drawing and instruments इंजीनियरिंग ड्राइंग और उपकरण का परिचय