37. शेपर मशीन क्या है ? What Is Shaper Machine In Hindi

शेपर मशीन क्या है, या शेपर मशीन किसे कहते है ? What Is Shaper Machine In Hindi

 shaper-machine-kya-hai-what-is-shaper-machine-in-hindi

Introduction: Shaper machine एक रिसिप्रोकेटिंग मशीन tool है जिसके द्वारा हम flat surface को आसानी से बना सकते हैं यह सरफेस लंबवत  समतल या किसी कोण में भी हो सकती हैं. Shaper machine के द्वारा स्लॉट या ग्रूव भी काटे जा सकते हैं शेपर मशीन का tool forward दिशा में cutting करता है.

Quick Return Mechanism Of A Shaper Machine

Shaper पर मशीनिग करते समय time कम करने के लिए वापसी stroke और forward stroke की चाल को बदला जाता है. अर्थात ration stroke को forward stroke की अपेक्षा तेजी से पीछें लाया जाता है. जिसे quick ration motion कहते है. इसके लिए कई मकेनिकल उपयोग किए जाते है.

Crank Slotted Link Mechanism

इस mechanism में ball गियर को गति एक ड्राविंग पिनियन से दी जाती है और इस पिनियन को चालक गति एक मोटर या लाइन shaft से प्राप्त होती है. Ball gear के center में एक bolt के द्वारा एक radial slide fit रहती है, जिसके साथ एक sliding block लगा होता है. इस sliding block पर एक crank pin fit रहती है. Ball gear जब चलती है तो crank pin भी घुमती है. Sliding block जो की crank pin के साथ फिट रहता है. इसे Sliding link में fit कर दिया जाता है.

Sliding link को rocker arm के नाम से भी जाना जाता है और ऊपर का सिरा एक पिन के द्वारा ram block के साथ जोड़ दिया जाता है. इस प्रकार जब ball gear चलती है तो crank pin भी घुमती है. Crank pin के साथ जो sliding block लगा होता है. वह crank pin वृत पर घुमेगा और उसी समय वह स्लाइडिंग लिंक के shaft में स्लाइड करेगा, और Shocking movement दिशा में चलेगा. इस प्रकार ram की प्रतिचालक गति चलती है.

Principle Of Quick Return Of Mechanism

शीघ्र वापसी अर्थात ram की quick return motion का सिद्धात इस प्रकार है. यदि ram PL की position में होगा तो ram pm की position तथा में होगा तो ram forward position में होगा. PL और PM crank pin वृत्त के स्पर्श रेखीय होगें. इस प्रकार यदि crank AxB पर से होकर चलेगा तो forward stroke बनेगा. इस प्रकार crank यदि AyB से होकर चलेगा तो वापसी stroke बनेगा. जैसा की चित्र में दिखाया गया है. कोण AxB बड़ा है और कोण AyB अपेक्षाकृत छोटा है. इसलिए forward stroke की अपेक्षा वापसी stroke कम समय में लगेगा. जिसे quick return motion कहते है. forward अथवा cutting समय और वापसी समय का अनुपात निम्न सूत्रों से ज्ञात किया जाता है.

कटिग समय = <AxB
------------------------
वापसी समय = <ByA

Cutting में वापसी समय का अनुपात प्राय: 3:2 रखा जाता है. जिसे निम्न विधि से ज्ञात कर सकते है जैसे <AoB = 144 रखा जाता है. Ram पूर्ण तथा वापसी position में 144º में आएगा एक पूर्ण circle में 360º होते है. इसलिए cutting stroke 360 - 144 = 216 में चलेगा. इस प्रकार cutting से वापसी समय का अनुपात 216:144 = 3:2 होगा. यदि cutting stroke 3 मिनट (216) में लगेगा तो वापसी stroke 2 मिनट (144) में लगेगा. यह शीघ्र वापसी गति का सिद्धांत है.

Comments

Popular posts from this blog

1.1. introduction of Drawing ड्राइंग की परिभाषा पूरी जानकारी हिंदी में

1.2. introduction of Engineering Drawing and instruments इंजीनियरिंग ड्राइंग और उपकरण का परिचय

3. Convention Line in hindi सभी प्रकार की रेखाओ की जानकारी हिंदी में |