27.2 Types Of Belt In Hindi | बेल्ट कितने प्रकार के होते है

Share:
types-of-belt-in-engineering-drawing-in-hindi

What Is Draw

Rim के अंदर की side taper की जाती है तथा hub की बाहरी side taper की जाए उसे draw कहते है.

Slip Of Belt

Belt के द्वारा एक pulley से दूसरी pulley को Power Transmission करती है तो उसमे बेल्ट थोड़ी सी slip करती है. अथार्त pulley में बेल्ट की speed कम हो जाती है. जैसे driver व driven pulley की अपेक्षा कम चक्कर काटती है. उसे slip of belt कहते है.

Power Transmission By Belt

Workshop में हम power transmission करते है वहां पर हम belt का प्रयोग करते है, बेल्ट के द्वारा हम दो प्रकार से शक्ति सचालन कर सकते है.

1. Open Belt Drive
2. Cross Belt Drive

1. Open Belt Drive

इस method में चालक व परिचालक pulley को एक खुली बेल्ट के द्वारा जोड़ा जाता है, तथा दोनों पुल्ली एक ही दिशा में घुमती है.

2. Cross Belt Drive

इस method में driver और driven pulley को एक दुसरे के विपरीत दिशा परिचालक में घुमने के लिए यह method use किया जाता है. तथा shaft एक दुसरे के parallel होती है, और दोनों पुल्ली पर बेल्ट cross wise रखी जाती है.

Creaping In Belt

Belt में लचीलापन होता है जो driver pulley, driven pulley को खीचती है. तो पुल्ली के नीचें वाला भाग बेल्ट खीचता है अथार्त इसके बाद belt की length कुछ बढ़ जाती है. जिसके कारण driver pulley और driven pulley एक समान गति में नही घुमती. Belt के इस प्रकार increase and decrease होने को creaping in belt कहते है.

Types Of Belt

Power transmission के लिए अलग-2 प्रकार की belt प्रयोग की जाती है. Material के अनुसार बेल्ट कई प्रकार के होते है.

1. Leather Belt
2. Cotton Or Canvas Belt
3. V Belt

1. Leather Belt

यह belt चमड़े की एक या दो से अधिक सतहों को आपस में जोड़कर बनाया जाता है.  एक सतह वाली बेल्ट की मोटाई 5 से 8mm और दो सतह वाली belt की मोटाई 8 से 12mm तक होती है.

2. Cotton Or Canvas Belt

यह belt कपड़े की सतहों को आपस में जोड़ कर बनाई जाती है. Leather belt की अपेक्षा यह मजबूत होती है. इस बेल्ट पर नमी का कोई प्रभाव नही पड़ता है.

3. V Belt

इस belt का cross section अथार्त outer shape english के अक्षर v के आकार का होता है. इस बेल्ट को केवल V groove कटी हुई pulley पर power transmission के लिए use किया जाता है. यह belt बिना जोड़ के बनाए जाते है. इस belt को अधिक मजबूती के लिए इसके बीच में रेशम के धागे डाले जाते है. तथा धागों के चारों और cotton की परत चढ़ाई जाती है.

Formula For Speed Ratio Of Pulley

जो पुल्ली motor से power लेकर machine को power देती है इसे drive pulley कहते है. Drive pulley से जो पुल्ली चलती है उसे driven pulley कहते है. Speed को कम या ज्यादा करने के लिए अलग-2 diameter की पुल्ली की जरूरत पड़ती है. Pulley की speed और diameter निकालने के लिए विभिन्न formula use किया जाता है.


Calculation Of Surface Speed Velocity Ratio

Belt के हर आपस में जुड़ी भिन्न -2 diameter की pulley के चक्करो के आपस के अनुपात को volocity ratio कहते है.

मान लो
D = Diameter की driven pulley is equal to = Diameter of driver pulley = d
R.P.M of driver pulley = n
Surface speed of driven pulley = πDN
Surface speed of driver pulley = πdn
क्योकि दोनों पुल्ली एक ही बेल्ट के द्वारा आपस में जुड़ी हुई है. यदि belt slip न हो तो दोनों pulley की speed एक ही रहेगी.

No comments