25.2 What Is Riveting, Types of Riveting In Hindi | रिवटिंग क्या होती है, रिवटिंग कितने प्रकार की होती है

What-Is-Riveting-Joint-In-Hindi

What Is Riveting

किसी plate के hole में rivet set करके उसके tail के head को फैलाने की विधि को riveting कहते है. Job में riveting करते समय rivet की shank hole में से आर-पार जानी चाहिएं. जिस hole में rivet length की जाती है. Engineering line में riveting तीन प्रकार की होती है.

1. Cold Riveting
2. Hot Riveting
3. Partial Riveting

1. Cold Riveting

यह riveting job पर की जाती है. इस mrthod में rivetion ठंडी होती है. इस riveting में 12mm diameter की rivet प्रयोग की जाती है. इस riveting के लिए hole का diameter 0.2mm बड़ा होता है.

2. Hot Riveting

Hot riveting उन plate या job पर की जाती जाती है जो बहुत बड़ी व भारी हो, यह विधि 12mm diameter से बड़ी rivet के लिए प्रयोग की जाती है. इस rivet को गर्म करके लगाने से अच्छी रहती है.

3. Partial Riveting

इस विधि में केवल rivet के head को गर्म करके riveting की जाती है. Rivet का बाकी बचा पार्ट्स को गर्म नही किया जाता है. Engineering line में हाथ द्वारा cold riveting के लिए निम्नलिखित tool प्रयोग किए जाते है. जिसका विवरण इस प्रकार है.

(i). Rivet Set
(ii). Rivet Snap Tool

(i). Rivet Set

Rivet set का प्रयोग rivet को fit करने के बाद जरूरत पड़ने पर rivet के उपर खिचने तथा head के चारों और उठे हुए metal को ठीक से बनाने के लिए किया जाता है.

(ii). Rivet Snap Tool

Hammer द्वारा riveting करने के पश्चात head को सही shape देने के लिए rivet snap tool का प्रयोग किया जाता है. Engineering line में cold riveting के लिए निम्न tool प्रयोग किए जाते है.

Caulking And Fullering opration

Riveting करने के पश्चात rivet जोड़ को मजबूत और leak proof बनाने के लिए अथवा leakege की setting के लिए opration करते है. जिसे caulking and fullring tool कहते है. इसमें two types के tool प्रयोग किए जाते है.

Caulking Tool

यह आमतौर पर boiler plate pressor of पानी के टैक आवश्यकतानुसार leak proof किए जाते है. जिससे rivet जोड़ो से या पानी की leakage नही होती है. इसके लिए cold chisle tool के द्वारा rivet head को plate के सरह मिलाकर solid किया जाता है.  chisle एक सिरे पर लगभग 5mm तथा दुसरे सिरे पर 40mm मोटाई में कसी होती है, और इसका किनारा 10 के angle पर taper किया जाता है. इसमें hammer की चोट दी जाती है. यह विधि caulking कहलाती है और प्रयोग किए जाने वाले tool को caulking tool कहते है.

Fullering Tool

Fullering tool में द्वारा rivet जोड़ में plate के किनारे को पूर्ण रूप से एक-दुसरे से मिलाया जाता है. Fullering tool भी caulking tool की तरह ही होता है. परंतु इसका blade जोड़े जाने वाली plate की चौड़ाई के बराबर होती है. जो की 10 के angle के पर taper होता है. जिससे इसकी plate के बोर को आसानी से बिठाया जा सकें. इस tool पर hammer की चोट दी जाती है. जिससे निचली plate व उपर वाली plate के साथ set होकर मिल जाती है. इस प्रकार इस tool के द्वारा blade के सिरे को solid किया जाता है. इस विधि को Fullering और प्रयोग किए जाने वाले औजार को Fullering  tool कहते है.

Post a Comment

0 Comments