Posts

Showing posts from December, 2018

13. Conic And Conic Sections In Hindi (Engineering Drawing)

Image
INTRODUCTION:Engineering Drawing की study में plane curve जैसे ellipse,parabola and hyperbola की construction के बारे में पूरा ज्ञान होना चाहिएं और इनकी partial पहचान के बारे में भी पूरा ज्ञान होना अतिआवश्यक है. ellipse, parabola and hyperbola construction bridge frame of machine आदि के लिए प्रयोग की जाती है.

Curve Or Curve Line यह एक single curve line होती है जो एक point से चलती है तथा दिशा बदलती (direction change) करती हुई स्थिरता से चलती है. engineering line में ellipse, parabola, hyperbola को निमंलिखित तरीको से draw किया जाता है.

(i) By Plane Of Loci
(ii) By Cutting A Cone With Sectional Plane
(iii) Mathematically

(i) By Plane Of LociEllipse,parabola and hyperbola plane of loci के द्वारा draw करने से पहले कुछ terms के बारे में जानना बहुत जरुरी है.

Focus : Fix point is called the focus.

Loci : Locus का बहुबचन loci है.

Axis : वह line जो focus और generating के लम्बत गुजरे उसे axis कहते है.

Vertex : वह point जहा पर ellipse,parabola and hyperbola axis को काटती है उसे vertex कहते है.

Eccentric…

12. Intersection Of Surfaces And Interpenetration Of Solids in Hindi

Image
Introduction : जब किन्ही दो ठोसो की सतहों अथवा तल एक दूसरे को काटते है तो इसे ठोसो का प्रतिच्छेदन अथवा intersection of solid कहते है. किन्तु जब एक ठोस दूसरे ठोस को काटते हुए अथवा एक ठोस की सतह दूसरे ठोस की सतह के सम्पर्क में आकर प्रवेश करती है इसे ठोसो का प्रतिप्रवेशन अथवा interpenetration of solid कहते है. किन्ही दो ठोसो की आपस में मिलने वाली सतहों पर ठोसो के प्रतिच्छेदन अथवा प्रतिप्रवेशन के कारण एक वक्र अथवा straight line बनती है. जिससे क्रमश प्रतिच्छेदन वक्र प्रतिच्छेदन रेखा कहते है. यह रेखाए दो मिलने वाली ठोसो की बनावट पर निर्भर करती है यदि दोनों ठोसो को आपस में मिलाने वाली सतहों की बनावट गोलाकार होती है. जबकी दो समतल जैसे वर्गाकार या आयताकार आदि ठोसो की सतहों की बनावट के अनुसार इनकी आपस में मिलने वाली सतहों से सरल प्रतिच्छेदन रेखा बनती है. इस प्रकार drawing में विभिन्न प्रकार की ठोसो की विभिन मिलने वाली सतहों के अनुसार इनकी मिलने वाली सतहों को interpenetration या intersection रेखाओ द्वारा प्रदर्शित किया जाता है.

Intersection Of Surfaces And Interpenetration Of Solids क्या है ? Ty…

11. Development Of Surface क्या है ? Types of Development Surface in Hindi

Image
Introduction: जब किसी तीन dimension object (length,width,height) और solids की सम्पूर्ण surface को खोलकर किसी एक समतल सतह या तल पर लेटा दिया जाए तो इस प्रकार खुले (opened out) सतह को उस वस्तु का development of surfaces कहते है. development में प्रत्येक solid की surface की सम्बधित line हमेसा वास्तविक लम्बाई में होनी चाहिए. sheet metal और petrenmetal के कार्यो में cylinder, cone, pyramid, box आदि बनाने के development के लिए development of surface और इससे संबधित drawing की engineering trades के विस्तार में प्रयोग किया जाता है. इसलिए engineering व् desiner के साथ-2 mechanical, draughtsman और कारीगर (workes) को इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए.

Development Of Surface क्या है ? Types of Development Surface in Hindi
Kinds Of Surfaces Of Plane : ये निम्नलिखित दो प्रकार की होती है.

1. Plane Surface
2. Plane Of Revolution Or Curve Surface

1. Plane Surface ( समतल सतह ) समतल सतह वह तल है जिसके द्वारा जैसे prism, cube या pyramid आदि ठोस की आकृति घिरी हुई होती है. और इनमे दो तलों को मिलाने वाली edge (क…