10. Fastening And Fasteners क्या है ? Types of Fastening in Hindi

Share:
Fastening-And-Fasteners-in-engineering-drawing

INTRODUCTION :- Machine and Structure के अलग-अलग हिस्सों को आवश्यकतानुसार कार्य करने के लिए आपस में जोड़ने को Fastening कहते है | Engineering line में किसी भी मशीन के Parts temporary या Permanent जोड़े जाते है | Temporary Fastener Nut, Bolt, Key, Cotter, Stud इत्यादि की सहायता से जोड़े जाते है | Fastening के लिए जो Devices प्रयोग की जाती है उन्हें Fastener कहते है जैसे Nut, Bolt, Key, Cotter, Stud, Screw, Rivet, Welling आदि. Engineering Line में Parts को जोड़े बिना कोई भी Machine कार्य नही करती है | Engineering line में बहुत से Fastener प्रयोग किये जाते है, जिनका हमे पूरा पता व् ज्ञान होना अति आवश्यक है |

Fastening किसे कहते है ?

किसी भी मशीन के दो या दो से अधिक Parts को भिन्न-भिन्न Devices के द्वारा जोड़ने की विधि को Fastening कहते है.

Fastener किसे कहते है ?

Fastener वह Devices है जिसके द्वारा मशीन के दो या दो से अधिक Parts जोड़े जाते है, जैसे Nut, Bolt, Stud इत्यादि |

TYPE OF FASTENING IN HINDI

Engineering line में तीन प्रकार की Fastening प्रयोग की जाती है |
1. Temporary Fastening
2. Semi Permanent Fastening
3. Permanent Fastening

1. Temporary Fastening

इस प्रकार की फास्टिंग में मशीन पार्ट्स को temporary रूप से जोड़ा जाता है | अर्थात इसमें प्रयुक्त Fastener को बिना किसी नुक्सान के खोला जा सकता है | इसमें Job या Machine Parts को किसी भी प्रकार का कोई नुक्सान नहीं होता | इसमें पार्ट्स को आसानी से खोला व् जोड़ा जा सकता है | इसमें प्रयुक्त Fastener को temporary fastener कहते है | इनके उदहारण है जैसे Nut, Bolt, Stud, Key, Cotter, Pin, Washer, Screw आदि |


2. Semi Permanent Fastening

इस प्रकार के Method में part को Semi Permanent रूप से जोड़ा जाता है | इस method में प्रयुक्त fasteners को अगर खोलना हो या Machine Parts को खोलना हो तो खोलते समय Fasteners खुद ख़राब हो जाते है | लेकिन Job या Machine को कोई नुक्सान नही होता जैसे Rivets and Solder इत्यादि |


3. Permanent Fastening

यह ऐसी fastening है जो एक बार जोड़ने के बाद मशीन व् पार्ट्स एक अंग बन जाते है | Permanent Fastening से Parts Permanent जुड़ जाते है | जिनको हम आसानी से अलग नही कर सकते है | यदि हम parts को अलग करेगे तो fastener को तोड़ना पड़ता है जिससे मशीन को भी नुक्सान पहुँचता है, यहाँ तक की हमारी जॉब खराब भी हो सकती है | परमानेंट फास्टिंग के उदहारण Welding, Hot Riveting आदि |

Threaded Fastener

वह Fastener जो thread की सहायता से मशीन के पार्ट्स को जोड़ते है उसे threaded fastener कहते है | थ्रेडेड फास्टनर हमेशा joints में जोड़े जाते है, जैसे Nut and Bolt, Nut and stud आदि | एक Piece जिस पर External thread कटी हुई होती है जैसे bolt or stud और दुसरे Piece जिस पर internal thread कटी होती है जैसे nut or threaded hole, Nut और Hole का Diameter बराबर होता है | इंजीनियरिंग लाइन में नट और बोल्ट फास्टिंग के लिए इकट्ठे प्रयोग किए जाते है |

No comments