7.4. First Angle Projection and Third Angle Projection in Hindi

Share:
what-is-first-and-third-angle-projection-in-hindi
Hello Mechanical Students मैं Parhlad Suthar हूँ | आज मै इस आर्टिकल में आपको First Angle Projection And Third angle Projection के बारे में बताऊंगा | उम्मीद करता हूँ आपको यह जानकारी पसंद आएगी और आप जान सकेगे की फर्स्ट एंगल प्रोजेक्शन और थर्ड एंगल प्रोजेक्शन क्या है |

What is Fourth Quadrants ? चार खण्ड (Quadrants) क्या है ?

Horizontal Plane और Vertical Plane जब आपस में एक दुसरे को समकोण (right angle) पर काटती है तो four Quadrants (चार खण्ड) बनते हैं | इन Quadrants को first Quadrants, Second Quadrants, third Quadrants and fourth Quadrants को हम Dihedral Angle भी कहते है, और Dihedral angle को हम first angle,second angle, third angle and fourth angle भी कहते हैं | प्रत्येक Quadrants में ऑब्जेक्ट की position इस प्रकार होती हैं |

1. First Quadrants (पहला खण्ड) :- Object Horizontal Plane (H.P.) के ऊपर तथा vertical plane (V.P.) के सामने होता हैं |
2. Second Quadrants (दूसरा खण्ड) :- Object Horizontal Plane (H.P.) के ऊपर तथा vertical plane (V.P.) के पीछे होता हैं |
3. Third Quadrants (तीसरा खण्ड) :- Object Horizontal Plane (H.P.) के नीचे तथा vertical plane (V.P.) के पीछे होता हैं|
4. Fourth Quadrants (चौथा खण्ड) :- Object Horizontal Plane (H.P.) के नीचे तथा vertical plane (V.P.) के सामने होता हैं|


Engineering Drawing में Orthographic Projection के लिए दो Principle System use किए जाते है |

1. First Angle Projection.
2. Third Angle Projection.

What is First Angle Projection ?  First Angle प्रोजेक्शन क्या है ?

First angle projection में object को first quadrants में रखा जाता है | इस प्रोजेक्शन में object horizontal plane के ऊपर और वर्टीकल प्लेन के सामने होता हैं | इस प्रोजेक्शन में object को observer और picture plane के बीच में रखा जाता हैं | और projection horizontal plane और वर्टीकल प्लेन के ऊपर लिए जाते हैं | ऑब्जेक्ट का front view या Elevation Vertical Plane पर बनता हैं | तथा top या plan horizontal plane पर बनते हैं इस प्रोजेक्शन में दुसरे view इस प्रकार रखे जाते हैं की ऑब्जेक्ट  के bottom view को elevation के bottom से देखकर Elevation के ऊपर draw किया जाता हैं | इस प्रकार object के top view को को Elevation के top से देखकर elevation के bottom पर draw किया जाता हैं| इसी प्रकार ऑब्जेक्ट के side view को object के left hand side से देखकर elevation के right hand side में draw किया जाता हैं | इसी प्रकार object को right hand side से देखकर elevation के left hand side में draw किया जाता हैं | first angle projection में ऑब्जेक्ट  observer और Picture plane के बीच में होता हैं |

What is Third Angle Projection ?  Third एंगल प्रोजेक्शन क्या हैं ?

Third angle projection में object को third Quadrants में रखा जाता हैं | इस projection में object horizontal plane के नीचे और वर्टीकल प्लेन के पीछे होता है | इस प्रकार ऑब्जेक्ट का एक फेस पिक्चर प्लेन के बराबर होता हैं | इस प्रोजेक्शन में Picture Plane Observer और ऑब्जेक्ट के बीच में होता है और projection horizontal plane और वर्टीकल प्लेन पर लिए जाते है | ऑब्जेक्ट का front view और elevation vertical plane पर तथा top view Horizontal plane पर बनता है | इस प्रोजेक्शन में दुसरे view इस प्रकार रखे होते है Top view को थर्ड एंगल प्रोजेक्शन में top से देखकर elevation के top पर draw किया जाता हैं | bottom view को third angle projection में object के bottom से देखकर bottom पर draw किया जाता है | इसी प्रकार ऑब्जेक्ट की side view को left hand side से देखकर elevation के left hand side पर draw किया जाता है तथा right hand side को right hand side से देखकर elevation के right hand side में draw किया जाता है | क्योकि इस प्रोजेक्शन में पिक्चर प्लेन observer और object के बीच में रखी जाती है इसी कारण object के प्रोजेक्शन को लेने में आसानी होती हैं | इसलिए I.S.I. ने थर्ड एंगल प्रोजेक्शन को ही मान्यता दी है |

Why has I.S.I. Recommended Third Angle Projection ? Indian Standards Institute.ने थर्ड एंगल  प्रोजेक्शन को ही क्यों  मान्यता दी ?

Third angle projection में जब हम किसी object के प्रोजेक्शन लेते हैं तो हम object को third Quadrants में रखते हैं और हमारा पिक्चर प्लेन  ऑब्जेक्ट और observer के बीच में होता है | पिक्चर प्लेन बीच में होने के कारण हमे ऑब्जेक्ट की shape और size clear दिखाई देती हैं | यदि हम object left hand side से draw करते हैं तो हम Left Hand Side को हम Left Hand Side से देखकर तथा Right Hand Side को Right Hand Side  से देखकर right hand side में draw किया जाता हैं | और top view को top से देखकर top में तथा bottom view को bottom से देखकर  bottom में draw किया जाता है | क्योकि first angle projection में ऑब्जेक्ट बीच में होने के करण हमे प्रोजेक्शन लेने में कठिनाई होती हैं | इसी करण थर्ड एंगल प्रोजेक्शन में first angle projection की अपेक्षा हमे third angle projection में प्रोजेक्शन लेने में आसानी होती है एसलिए I.S.I. ने थर्ड एंगल प्रोजेक्शन को ही मान्यता दी हैं |

Why Second  and Fourth angle Projection are not used in Engineering Drawing ? Second और Fourth एंगल प्रोजेक्शन इंजीनियरिंग ड्राइंग में क्यों उपयोग नहीं किये जाते ?

सेकंड और फोर्थ एंगल प्रोजेक्शन में किसी object को बॉक्स में रखकर जब Principle Planes जैसे Horizontal Plane(H.P.), vertical plane(V.P.) and side vertical plane (S.V.P.) को खोलते हैं तो सभी Planes एक दुसरे के ऊपर Overlap हो जाता हैं | इसी करण हमे प्रोजेक्शन लेने में मुस्किल होती है और ड्राइंग को पढ़ना मुस्किल है | सेकंड और फोर्थ  एंगल  प्रोजेक्शन  Engineering line में प्रयोग नही करते केवल third angle Projection और first angle Projection ही प्रयोग करते है |

No comments